7th Pay Commission Salary Update: नवरात्रों पर सरकारी कर्मचारियों को तोहफा! 96,000 तक बढ़ेगा वेतन

7th Pay Commission Salary Update: केंद्र सरकार के 52 लाख कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। फिटमेंट फैक्टर पर लेटेस्ट अपडेट सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर पर मोदी सरकार नवरात्र से पहले फैसला ले सकती है. फिटमेंट फैक्टर को 2.57 प्रतिशत से बढ़ाकर 3.68 प्रतिशत किया जा सकता है। ताजा मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो त्योहारी सीजन में केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते के साथ फिटमेंट फैक्टर का तोहफा मिल सकता है. सितंबर महीने में डीए के साथ फिटमेंट फैक्टर की घोषणा हो सकती है। माना जा रहा है कि इसके लिए एक ड्राफ्ट भी तैयार किया जाएगा, जिसे जल्द ही केंद्र सरकार के साथ साझा किया जाएगा। एक ही संघ और सरकार की बैठक में विस्तार से चर्चा के बाद सितंबर में इस पर फैसला हो सकता है।

7th Pay Commission Salary Update

4 प्रतिशत डीए बढ़ोतरी की उम्मीद

मीडिया रिपोर्ट्स में उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है. पहले कहा जा रहा था कि जुलाई के अंत में डीए बढ़ाने का फैसला लिया जा सकता है, लेकिन ऐसा नहीं हो सका. अब संभावना है कि सितंबर माह में नवरात्रि के दौरान कर्मचारियों को डीए हाइक का तोहफा दिया जा सकता है.

4 प्रतिशत की वृद्धि के बाद केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 34 प्रतिशत से बढ़कर 38 प्रतिशत हो जाएगा। सरकार ने इस साल मार्च महीने में कर्मचारियों का DA बढ़ाया था. फिर डीए में 3 फीसदी की बढ़ोतरी की गई और इसे 31 फीसदी से बढ़ाकर 34 फीसदी किया गया. यह ध्यान देने योग्य है कि डीए कर्मचारियों के वेतन ढांचे का हिस्सा है।

AICPI index की अहम भूमिका

सरकार द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता तय करने में AICPI index महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जून के AICPI indexके 129.2 अंक पर आने के बाद कर्मचारियों के डीए में 4 फीसदी तक की बढ़ोतरी की उम्मीद जताई जा रही है. फरवरी के बाद AICPI index में जोरदार उछाल आया है।

जनवरी 2022 में AICPI index का आंकड़ा 125.1 था, जो फरवरी में 125 पर आ गया था। वहीं, मार्च में इसमें फिर से उछाल आया और यह 126 अंक पर पहुंच गया। इसके बाद यह अप्रैल में भी बढ़कर 127.7 हो गया। इसके बाद भी बढ़त जारी रही और मई में यह 129 अंक पर पहुंच गई, जबकि जून में 129.2 अंक पर पहुंच गई.

फिटमेंट फैक्टर- 2.57 से 3.68 फीसदी

फिटमेंट फैक्टर को 2.57 फीसदी से बढ़ाकर 3.68 फीसदी किए जाने की संभावना है। सहमति हुई तो इसे 1 सितंबर 2022 से लागू किया जा सकता है। इससे मूल वेतन 8000 से बढ़कर 18000 से 26000 हो जाएगा। पिछली बार 2017 में प्रवेश स्तर के मूल वेतन को 7000 रुपए से बढ़ाकर 18000 रुपए प्रति माह किया गया था। इसके लागू होने से केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन स्तर मैट्रिक्स 1 से 26,000 रुपये से शुरू होगा। हालांकि सरकार की ओर से अभी तक कोई पुष्टि नहीं की गई है।

फिटमेंट फैक्टर क्यों जरूरी है

7वें वेतन आयोग में केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन फिटमेंट फैक्टर के आधार पर तय होता है।
केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सैलरी तय करने में फिटमेंट फैक्टर की अहम भूमिका मानी जाती है।

इस वजह से केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में ढाई गुना से ज्यादा का इजाफा हो जाता है।

फिटमेंट फैक्टर के आधार पर पुराने मूल वेतन से संशोधित मूल वेतन की गणना की जाती है।
फिटमेंट फैक्टर पिछले वेतन आयोग की रिपोर्ट में एक महत्वपूर्ण सिफारिश है, जिसके आधार पर वेतन वृद्धि का फैसला किया जाएगा।

कितनी बढ़ेगी सैलरी

इस समय केंद्रीय कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना है, इस आधार पर न्यूनतम मूल वेतन 18000 रुपये और अधिकतम मूल वेतन 56900 रुपये है।

उदाहरण के लिए, यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी का मूल वेतन 18,000 रुपये है, तो भत्ते को छोड़कर उसका वेतन 18,000 रुपये x 2.57 = 46,260 रुपये का लाभ होगा।

3.68 होने पर वेतन 95,680 रुपये (26000 X 3.68 = 95,680) होगा यानी वेतन में 49,420 रुपये का लाभ होगा।

outstanding arrears पर फैसला संभव

तो सितंबर माह में केंद्रीय कर्मचारी के लंबे समय से लंबित बकाया देने की घोषणा भी की जा सकती है. कोविड-19 के चलते सरकार ने कर्मचारियों का डीए जनवरी 2020 से जून 2021 तक रोक रखा था. कर्मचारी लगातार अपने बकाया डीए के भुगतान की मांग कर रहे हैं। अगर केंद्र इस 18 महीने के बकाया डीए के भुगतान की घोषणा करता है तो केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में एक बड़ी राशि जुड़ जाएगी

HOMEPAGEPM KISAN YOJANAA

Leave a Comment

close button