Avian Influenza (Flu) : केरल में फ़ैल रहा Bird Flu Case, 20 हजार से अधिक पोल्ट्री पक्षियों को मारा गया

Bird Flu Case : केरल के अलाप्पुझा जिले में बत्तखों के बीच Avian Influenza (Flu) के प्रकोप होने की पुष्टि जारी कर दी है। बता दें कि अधिकारियों ने गुरुवार को इस बर्ड फ्लू बीमारी के प्रसार की जांच के लिए हरिपद नगरपालिका के वझुथनम वार्ड में 20,000 से अधिक पक्षियों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू किया है। इस बर्ड फ्लू (Bird Flu Case) बढ़ने से लोगों के बीच खतरे की घंटी बजती हुई दिखाई दे रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को केरल में बर्ड फ्लू (Bird Flu) के प्रकोप का जायजा लेने के लिए एक टीम का गठन किया। मंत्रालय ने कहा “टीम प्रकोप की विस्तार से जांच करेगी और सिफारिशों के साथ रिपोर्ट पेश करेगी।”

Avian Influenza Bird Flu Case

Bird Flu Case कैसे फैलता ?

आपको बता दें कि बर्ड फ्लू (Bird Flu) ए वायरस के कारण होने वाली एक अत्यधिक संक्रामक बीमारी है जो पोल्ट्री को प्रभावित करती है और मनुष्यों में आसानी से नहीं फैलती है। जो लोग संक्रमित पक्षियों के संपर्क में आते हैं उन्हें बर्ड फ्लू होने की सम्भावना ज्यादा है। वहीं केरल के अलाप्पुझा में बुधवार को इस बीमारी के फैलने की पुष्टि हुई। शहर की हरिपद नगरपालिका के दो खेतों में पिछले एक सप्ताह में 1,500 बत्तखों की मौत के बाद यह मामला प्रकाश में आया।

Bird Flu Case इतने बत्तखों की हुई मौत

गुरुवार को जिला अधिकारियों ने एक बयान में कहा कि आठ रैपिड रिस्पांस टीमों द्वारा 28 अक्टूबर से खेतों के एक किलोमीटर के दायरे में 20,471 बत्तखों को मार दिया जाएगा। नगर पालिका और आसपास की पंचायतों के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में बतख, मुर्गी और बटेर जैसे घरेलू पक्षियों के अंडे और मांस की खपत और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

Bird Flu Case पिछले साल हुई थी पहली मौत

पिछले साल भारत में इस तरह की पहली मौत बर्ड फ्लू (Bird Flu) से 11 साल के एक लड़के की मौत हुई थी। 2 जुलाई को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में ल्यूकेमिया और निमोनिया से पीड़ित होने के बाद बच्चे को भर्ती कराया गया था और 12 जुलाई को उसकी मृत्यु हो गई थी।

Google Scholarship 2022: गूगल देगा छात्रों को $1000 की छात्रवृत्ति, जाने कैसे करें अप्लाई?

इन छात्रों को मिलेगी 25000 की स्कॉलरशिप, ऐसे होगा रजिस्ट्रेशन

अब बुजुर्गों को मिलेगा 4500 रुपये पेंशन का लाभ जाने डिटेल

Bird Flu ऐसे फैलता है व्यक्तियों में संक्रमण

बर्ड फ्लू (Bird Flu) से संक्रमित पक्षी लार, मल के माध्यम से वायरस फैलता है। बर्ड फ्लू वायरस से मानव संक्रमण तब हो सकता है जब वायरस किसी व्यक्ति की आंखों, नाक या मुंह में चला जाता है। जिससे व्यक्ति संक्रमित हो सकता है। जब कोई व्यक्ति किसी ऐसी चीज को छूता है जिस पर वायरस होता है और फिर वह अपने मुंह, आंख या नाक को छूता है तो वह व्यक्ति भी संक्रमित हो जाता है।

पक्षियों के प्रतिबंद पर लगी रोक

आपको बता दें कि एवियन इंफ्लुएंजा के रूप में भी बर्ड फ्लू की पहचान हरिपद नगर पालिका के 9 वे वार्ड में वझुथनम पश्चिम और वझुथनम उत्तर में दो पोल्ट्री फार्मों की बतखों में हुई थी। इस विषय में जिला अधिकारियों ने कहा है कि वायरस के प्रकोप से केंद्र के एक किलोमीटर के दायरे में स्थित सभी पक्षियों को मारने का आदेश दिया गया है। इस वायरस फैलने के कारण एक किलोमीटर के अंदर पक्षियों के परिवहन पर भी प्रतिबन्ध लगा दिया है।

Leave a Comment