Corona New Variant : नया वेरिएंट खतरनाक, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी, दिख रहे ये लक्षण

Corona New Variant : कोरोना का नया वेरियंट (Corona New Variant) एक बार फिर लोगों के सामने आ गया है। इस नए संक्रमण के चलते स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। जिसके चलते कई तरह के बचाव के लिए कहा जा रहा है। देश में एक बार फिर कोरोना का कहर बढ़ने जा रहा है। जिसके चलते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच बैठक हुई। यह बैठक ओमीक्रोन के नए सब वेरियंट को देखते हुए आयोजित की गई थी।

Corona New Variant इन लोगों को सतर्कता रखने की जरुरत

दिल्ली एम्स के पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने भारत में कोरोना संक्रमण के नए वेरियंट (Coronavirus disease New Variant) को देखते हुए आम जनता से सतर्कता अपनाने के लिए कहा है। जिनकी उम्र 60 साल से अधिक या किसी बीमारी से ग्रस्त हैं उन्हें घर में रहना चाहिए क्योंकि इस नए वेरियंट का अधिक खतरा इन लोगों को हो सकता है।

Corona New Variant

Corona New Variant मामलों में हो रही तेजी

कोरोना के नए वेरियंट (Corona New Variant) को तेजी से फैलते देखते हुए वैज्ञानिकों, चिकित्सकों और वरिष्ठ लोगों को तेजी से COVID-19 रोगनिरोधी खुराक की भी सलाह दी गई।आपको बता दें कि इससे पहले 18 अक्टूबर को महाराष्ट्र में पिछले सप्ताह की तुलना में कोरोना वायरस के मामलों में 17.7% की वृद्धि हुई थी। केरल और भारत के अन्य क्षेत्रों में पहचाने गए XBB सब वेरियंट सहित SARS-CoV-2 वायरस के नए उदाहरण महाराष्ट्र में देखने को मिले हैं।

Corona New Variant इन गाइडलाइन का करें पालन

पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया सलाह देते हैं कि बाहर जाते समय हर किसी को मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। खासकर भीड़-भाड़ वाले इलाकों में मास्क जरूर लगवाएं। हालाँकि यह उम्मीद की जाती है कि नए संस्करण बहुत जल्दी सामने आ सकते हैं जिसके चलते देश के मौजूदा हालात बदल सकते हैं।

पहले कोरोना वायरस का कोई टीकाकरण नहीं था लेकिन अब सभी का टीकाकरण किया जाता है। उन्होंने कहा कि हालांकि त्योहारों का मौसम नजदीक आ रहा है और कोरोना के मामले भी बढ़ रहे हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि लोगों को अपना ख्याल रखना बंद कर देना चाहिए।

Corona New Variant लोगों में दिखेंगे ये लक्षण

पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया के अनुसार अस्पताल में भर्ती होने और ICU में भर्ती होने की संभावना कम है। उनका कहना है कि इस बार लोगों में हल्का संक्रमण देखने को मिलेगा। लोगों में बुखार, सर्दी, खांसी और शरीर में दर्द होने के लक्षण दिखेंगे और यह 3-4 दिनों के भीतर होंगे। आमतौर पर इस मौसम में COVID के कारण भी वायरल बुखार के लक्षण हो सकते हैं।

Corona New Variant के आंकड़े

Subvariant of Omicron in India: संयुक्त राज्य अमेरिका में BQ.1, BQ.1.1, और BF.7 की निगरानी होने वाले मामलों में वृद्धि के कारण चिंता के रूपों में की जा रही है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल-USA के आंकड़ों के अनुसार, BQ.1 और BQ.1.1 प्रत्येक में कुल मामलों का 5.7 प्रतिशत है। यूनाइटेड किंगडम में BQ.X संस्करण और BF.7 जांच के दायरे में हैं क्योंकि वे प्रमुख BA.5 पर जमीन हासिल करते हैं। यूके की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी के अनुसार, BF.7 ने कोविड -19 मामलों में 7.26 प्रतिशत का योगदान दिया

Leave a Comment