Crop Registration of Farmer : बंटाई की भूमि का फसल रजिस्ट्रेशन कैसे कराएं?

Crop Registration of Farmer : मध्य प्रदेश सरकार किसानों को लाभ देने के लिए ऑनलाइन फार्मर रजिस्ट्रेशन शुरू कर रही है यह रजिस्ट्रेशन MP EUparjan Portal के माध्यम से किया जा रहा है। न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन (New Farmer Registration) वही किसान कर सकते हैं जिनके नाम उनकी खुद की जमीन हो। अब इस योजना के तहत बंटाई पर ली गई भूमि का भी ऑनलाइन किसान रजिस्ट्रेशन (Online Farmer Registration) कर सकते हैं।

Crop Registration of Farmer बंटाईदार कॉन्ट्रैक्ट में क्या होगा ?

भूस्वामी और बंटाईदार के बीच कॉन्ट्रैक्ट करते समय सादे कागज की तीन प्रतियों पर होगा। यह कॉपी एक एक पक्षों को दी जाएगी। इसके साथ एक तहसीलदार को दी जाएगी। यह कॉन्ट्रैक्ट लगभग 5 सालों के लिए होगा। यह कॉन्ट्रैक्ट केवल आदिम जनजाति वर्ग के सदस्य को दिया जाएगा। बटाईदार को कृषि कार्य, सुधार और कृषि सम्बंधित कार्य करने का अधिकार होगा।

Crop Registration of Farmer

Crop Registration of Farmer किसानों को होगा कॉन्ट्रैक्ट

प्राकृतिक आपदा होने के कारण सरकार फसल के नुकसान होने पर सहायता प्रदान करती है। यह राशि बटाईदार और भूस्वामी के बीच विभाजित की जाएगी। अगर बटाईदार की मृत्यु हो जाती है तो उस सय उसके अधिकार आवेदक के उत्तराधिकार को दिया जाएगा।

Crop Registration of Farmer लीज पर रखी गई भूमि का फसल रजिस्ट्रेशन

लीज पर रखी गई भूमि की फसल का किसान रजिस्ट्रेशन लीज पर जमीन रखने वाले किसान द्वारा करवाया जाएगा। भूमि स्वामी और बटाईदार कंट्रैक्ट को फॉर्म नंबर 6 के अनुसार फसल रजिस्ट्रेशन का अधिकार बटाईदार का हो जाता है और किसी प्रकार का बीमा आता हैं तो वह भूमि स्वामी एवं बटाईदार के बीच में बराबर विभाजित किया जाएगा।

Crop Registration of Farmer के लिए जरुरी दस्तावेज

मोबाइल नंबर
किसान रजिस्ट्रेशन फॉर्म
किसान की समग्र आईडी
निवास प्रमाण पत्र
बैंक पासबुक
जमीन का खसरा
भूस्वामी और बटाईदार के बीच कॉन्ट्रैक्ट
किसान का आधार कार्ड

Farmer Registration Form कहाँ से प्राप्त करें ?

न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन (New Farmer Registration) अपने पास के किसी भी किसान रजिस्ट्रेशन केंद्र से प्राप्त कर सकते हैं। या आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से चेक कर सकते हैं। अगर किसान की मृत्यु हो जाती हैं तो किसान के वारिस अपने नाम से मृत किसान की भूमि का फसल रजिस्ट्रेशन तहसीलदार की स्वीकृति से करवा सकते हैं। इस किसान रजिस्ट्रेशन में सभी दस्तावेज वारिस के ही देने होंगे।

किसान कोड कैसे प्राप्त करें ?

आपको बता दें कि किसान की सभी जानकारी अपलोड होने पर Farmer ID Registration Online Generate होगी। इसके साथ ही आपके मोबाइल नंबर पर SMS के द्वारा भेजी जाएगी। अगर आपको मैसेज प्राप्त नहीं होता है तो आप रजिस्ट्रेशन केंद्र पर अपनी प्रिंट के सरल क्रमांक द्वारा फार्मर रजिस्ट्रेशन लिस्ट से फार्मर रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त कर सकते हैं।

EUparjan Portal किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

किसान अपना रजिस्ट्रेशन आधार नंबर एवं समग्र आईडी के आधार पर कर सकते हैं।
रजिस्ट्रेशन के लिए आधार और आधार समग्र आईडी का होना अनिवार्य है।
किसान अपनी परिवार समग्र आईडी से भी सदस्य समग्र आईडी खोज सकते हैं।
रजिस्ट्रेशन फॉर्म में बैंक खाता पासबुक देखे।
MP ई उपार्जन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए मोबाइल नंबर होना चाहिए।

Leave a Comment