e-Pan Card Download (Know PAN Number): चोरी या खो गया है पैन कार्ड? ऑनलाइन डाउनलोड करें

e-Pan Card Download: अब किसी भी वित्तीय लेन देन करते समय पैन कार्ड नंबर (Pan Card Number) होना बेहद जरुरी हो गया है। बिना पैन नंबर के अब किसी बैंक में खाता नहीं खुलवा सकते हैं और न ही कोई निवेश कर सकते हैं। अगर आप 50 हजार से ज्यादा का वित्तीय लेन देन करने पर PAN नंबर अनिवार्य कर दिया गया है। अगर आपका PAN नंबर कहीं खो गया है तब आप क्या करेंगे?

Pan Card Number कैसे पता करें ?

पैन कार्ड नंबर (Pan Card Number) का पता करने के लिए टैक्स विभाग ने एक आयकर संपर्क केंद्र बनाया है। इस संपर्क केंद्र बनाया है। इस संपर्क केंद्र से पूछताछ करने के लिए एक फ्री टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। इस टोल फ्री नंबर 1800 180 1961 पर कॉल करके आप मिनटों में अपने खोए पैन कार्ड नंबर (Apply for Duplicate PAN Card from Home) प्राप्त कर सकते हैं।

PAN Card स्टेटस कैसे करें चेक ?

एक बार पैन कार्ड (Pan Card) के लिए आवेदन जमा करने के बाद आपको अपना पैन कार्ड (new online Duplicate Pan Card) प्राप्त करने में आमतौर पर 15 दिन का समय लगता है। हालांकि जब तक आप अपना पैन कार्ड डिलीवर नहीं कर लेते तब तक आप हमेशा 15 अंकों की पावती संख्या प्रदान करके अपने पैन कार्ड की आवेदन स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं।

PAN Card status को ट्रैक करें ऑनलाइन

  • उम्मीदवार को पैन कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट (https://www.incometax.gov.in/ ) पर जाएं।
  • अब निर्देशित दौरे के तहत पैन कार्ड की स्थिति ट्रैक को चुनें।
  • आगे बढ़ने के लिए “पावती संख्या” दर्ज करें।
  • उसके बाद सत्यापन के लिए कैप्चा कोड दर्ज करें।
  • अब सबमिट पर क्लिक करें और पैन कार्ड आवेदन की स्थिति स्क्रीन पर दिखाई देगी।

फॉर्म 16 या 16A में देखें पैन नंबर

Online Duplicate Pan Card: अगर आपका TDS कटा है तो TDS काटने वाले संस्थान आपको एक TDS सर्टिफिकेट का लाभ देंगे। इस पर आपका PAN नंबर भी दर्ज होगा। यह सर्टिफिकेट फॉर्म 16 या 16A के रूप में होता है। बता दें कि सैलेरी पर टीडीएस काटे जाने पर फॉर्म 16 दिया जाता है। सैलेरी के अलावा किसी अन्य प्रकार की आमदनी पर टीडीएस काटे जाने पर Form 16 A जारी किया जाता है।

Pan Card Number GST नंबर पर भी होगी जारी

Duplicate/Reprint PAN CARD Online: अगर आप एक बिजनेस मैन हैं और आपने GST में अपना रजिस्ट्रेशन करवा रखा है तो आपके रजिस्टर नंबर से ही पैन नंबर आसानी से पता हो जाएगा। दरअसल किसी भी GST रजिस्ट्रेशन नंबर में कुल 15 अंक होते हैं। इनमें से पहले 2 अंक उस राज्य का कोड होते हैं जहां आपका GST रजिस्ट्रेशन है। साल 2011 के मुताबिक यह कोड तय किए गए हैं।

स्टेट कोड के बाद जो 10 अंक का नंबर होता है वह आपका PAN CARD Number होता है। 13 अंक आपके उस राज्य में रजिस्टर्ड सभी GST नंबरों को दर्शाता है 14 वां अंक हमेशा “Z” होता है और 15 वां अंक check code होता है। जिसे कंप्यूटर सिस्टम कुछ गणनाओं के आधार पर खुद तय करता है।

PAN Number बीमा प्रीमियम रिकार्ड में करें दर्ज

अगर आपने 50 हजार से अधिक का बीमा प्रीमियम चुकाया है तो आपको अपना PAN नंबर भी देना होगा। यह नंबर बीमा कंपनी के रिकॉर्ड में यह दर्ज होता है। आप उनसे अनुरोध करके अपना PAN नंबर पता कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

Kisan Credit Card News : सरकार का 70 लाख किसान क्रेडिट कार्ड धारकों को 62,870 करोड़ के कर्ज को मंजूरी

Avian Influenza (Flu) : केरल में फ़ैल रहा Bird Flu Case, 20 हजार से अधिक पोल्ट्री पक्षियों को मारा गया

इन छात्रों को मिलेगी 25000 की स्कॉलरशिप, ऐसे होगा रजिस्ट्रेशन

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों लिए बड़ी खुशखबरी, अकाउंट में आएंगे 21622 रुपये

Google Scholarship 2022: गूगल देगा छात्रों को $1000 की छात्रवृत्ति, जाने कैसे करें अप्लाई?

Leave a Comment