EPFO Balance Increased: अब आपका EPFO बैलेंस बढ़ जायेगा 66% तक, जानें क्या है सरकार का नया नियम

EPFO Balance Increased: जानकारी के अनुसार सरकार द्वारा नए वेतनमान नियम (The new wage code) जारी किये जाने पर विचार किया जा रहा है और इस बारे में चर्चा चल रही है। फिलहाल अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से इस बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

इसके अलावा अगर नया वेज कोड लागू होता है तो इससे निजी क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों के लिए यह काफी चिंता का विषय होगा। इसके अतिरिक्त नए वेतन संहिता में यह भी कहा गया है कि कर्मचारी की बेसिक सैलरी उसके सीटीसी के 50% से कम नहीं होगा और इसका प्रभाव कर्मचारी के EPFO(कर्मचारी भविष्य निधि) की राशि पर भी पड़ेगा। साथ ही सभी कर्मचारी और कंपनी हर महीने बेसिक सैलरी का 12% अपने PF में जमा करेंगे।

जानें क्या है EPFO ​​का नया नियम

EPFO के नए नियमों के अनुसार, अगर आप अपने PF की पूरी धनराशि निकाल लेते हैं तो उस राशि पर टैक्स नहीं लगता है। इसलिए नया वेतन संहिता लागू होने के बाद से जब बेसिक सैलरी 50%से ज्यादा हो और उस पर PF अंशदान कटेगा तो PF fund भी ज्यादा होगा। इसका मतलब यह है कि कर्मचारी के पास रिटायरमेन्ट के समय पहले से अधिक PF balance जमा हो जायेगा। हम यहां पीएफ की गणना को उदाहरण के माध्यम से समझते हैं।

मान लीजिए कर्मचारी की आयु 35 वर्ष है और कर्मचारी का वेतन 60,000 रुपये प्रति माह है। ऐसे में यदि कर्मचारी के वेतन में 10% की वार्षिक इंक्रीमेंट होती है तो रिटायरमेंट की उम्र तक मौजूदा पीएफ की ब्याज दर 8.5% यानी कि 25 साल बाद कर्मचारी का कुल पीएफ बैलेंस 1,16,23,849 रुपये हो जाएगा। इसके अलावा अगर इसके PF balance की मौजूदा ईपीएफ योगदान से तुलना करने पर रिटायर होने के बाद पीएफ बैलेंस की रकम कुल 69,74,309 रुपये होती है। यानी कि नए वेतन नियम लागू होने से पीएफ बैलेंस में पुराने फंड से कम से कम 66% अधिक होगा। इसका मतलब यह है कि अगर नया वेज कोड लागू हो जाता है, तो कर्मचारी रिटायरमेंट के समय करोड़पति बनकर रिटायर होंगे।

ग्रेच्युटी में भी होगा बदलाव

नए वेतन कोड के अनुसार, कर्मचारियों की ग्रेच्युटी में भी बदलाव करने पर विचार किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार ग्रेच्युटी की गणना अब बड़े पैमाने पर की जाएगी, जिसके तहत मूल वेतन के साथ ही अन्य भत्तों का लाभ भी प्रदान किया जायेगा, जिनमें यात्रा भत्ता, विशेष भत्ता एवं कई अन्य भत्ते शामिल हैं। यह सब भत्ते कंपनी के ग्रेच्युटी अकाउंट में जोड़े जायेंगे।

Leave a Comment

close button