इन लोगों को नहीं मिलेगा Free Ration का लाभ, मुफ्त चावल- गेंहू पर भी लगी रोक, जानें वजह

Free Ration: सभी राशन कार्ड धारकों के लिए जरुरी खबर है कि सरकार द्वारा जरूरतमंद गरीब वर्ग के लोगों के लिए जो गरीब कल्याण योजना शुरु की गयी थी, उस योजना को लेकर एक बड़ा Update आया है। खाद्य विभाग द्वारा शुरू किये गए ‘अपात्र को ना-पात्र को हाँ’ अभियान के तहत अब तक करीब 3000 से अधिक लोगों ने अपने राशन कार्ड सरेंडर कर दिए हैं। ये सभी वह लोग हैं जो सरकार द्वारा चलाई गयी सस्ता राशन योजनाओं के लिए पात्र नहीं हैं।

इसी के चलते मंगलवार को खाद्य मंत्री रेखा आर्य ने बनबसा से Virtual medium से खाद्य विभाग की समीक्षा की। केंद्र सरकार द्वारा हर राज्य में कमजोर वर्ग के परिवारों एवं गरीबी रेखा से नीचे दुर्लभता से जीवन जीने वाले परिवारों को विशेष प्रकार के राशन कार्ड जारी किये जाते हैं। इस Ration card का इस्तेमाल करके हर महीने Ration card holder मुफ्त राशन प्राप्त करते हैं। इसके अंतर्गत अब यूपी सरकार ने बड़ा फैसला सुनाते हुए आने वाले चार महीने तक Free ration distribution पर रोक लगा दी है।

अपात्र /अयोग्यता सूची: इन लोगों को नहीं मिलेगा Free Ration

  • अगर किसी परिवार का एक भी सदस्य आयकर दाता हो और जिनके पास 5 एकड़ से अधिक सिंचित भूमि है, वह योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में जिस परिवार की सालाना आय सालाना 2 लाख और शहरों में 3 लाख से अधिक है, वह योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं।
  • जिस परिवार के पास AC, ट्रैक्टर एवं Four wheeler वाहन हैं, वह योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं।
  • जिनके पास किसी प्रकार के हथियारों का लाइसेंस है, वह योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं।
  • जिनके पास Plot, Flat, या 100 वर्ग मीटर, 80 वर्ग मीटर कॉर्पोरेट क्षेत्र वाणिज्यिक स्थान है, वह योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं।

खाद्य मंत्री ने कहा कि हर राशन की दुकान के बाहर लाभार्थियों की सूची भी लगाई जाए। इसके साथ ही सूची में सभी योजनाओं के मानक, Helpline number -1967 भी दर्ज करना होगा। खाद्य मंत्री ने यह भी कहा कि जिस ग्राम सभा से अपात्र व्यक्ति का Ration card सरेंडर होगा, उसी ग्राम सभा के पात्र व्यक्ति का ration card add किया जाएगा। इसके अलावा, जिन लोगों की मासिक आय 15 हजार रुपये से अधिक है, वे अंत्योदय और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं हैं। ये सभी अपात्र लोग 31 मई तक स्वयं अपने Ration card सरेंडर करा सकते हैं।

1 जून 2022 से अपात्र राशन कार्ड धारकों की पहचान करने के लिए विभागीय स्तर पर अभियान भी चलाया जाएगा। इसके तहत अपात्र पाए जाने वाले लोगों पर FIR भी की जाएगी और उनसे recovery भी की जाएगी। जिन क्षेत्रों में अपात्र लोगों के राशन कार्ड निरस्त होंगे, उन क्षेत्रों के पात्र परिवारों को जल्द ही लाभकारी योजनाओं में शामिल किया जाएगा। जो परिवार अंत्योदय और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत पात्र नहीं हैं, वो अब राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के लिए apply कर सकते हैं। इसके लिए सभी लोगों को मानकों का सख्ती से पालन करना होगा।

कितने दिनों के अंदर राशन कार्ड सरेंडर करना होगा?

अपात्र लोगों को कितने दिनों में अपना राशन कार्ड सरेंडर करना होगा? फिलहाल इस बारे में केंद्र सरकार द्वारा कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है, लेकिन अपात्र व्यक्ति जल्द से जल्द अपने नजदीकी तहसील और डीएसओ कार्यालय में जाकर Ration card सरेंडर कर दें ताकि आपको बाद में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े।

सरकार द्वारा जारी किये गए नियम के अनुसार, अब कोई भी व्यक्ति बिना किसी valid proof के अंत्योदय राशन कार्ड नहीं बना सकते हैं, क्योंकि इस card का लाभ केवल उन्हीं लोगों को मिल सकता है जिनका परिवार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं और जो कमजोर एवं गरीब वर्ग से हैं। वर्ष 2002 में भारत सरकार द्वारा BPL Survey किया गया था और इन आंकड़ों के अनुसार, अत्यंत गरीब वर्ग में शामिल परिवारों को अंत्योदय राशन कार्ड जारी किए गए थे।

Leave a Comment

close button