Grow Mushrooms On Coffee Grounds (Step By Step): घर पर मशरूम उगाने का सबसे आसान तरीका

Grow Mushrooms On Coffee Grounds : मशरूम की खेती के बारे में कई लोग जानते हैं लेकिन क्या आपने कॉफी के खेत में मशरूम (Mushrooms in Coffee Ground at Home) को उगाया है। आज इस लेख में हम कॉफी से मशरूम उगाने के लाभों को जानेगे। मशरूम की खेती हमारे देश में काफी अच्छी होती है लेकिन इसकी खेती साधारण जमीन पर होना काफी मुश्किल होता है। मशरूम उगाने के लिए एक ऐसी जमीन की जरुरत होती है जो इसे एकजुट रखे।

Mushrooms में पाई जाती है फाइबर की मात्रा

Grow Mushrooms In Coffee Grounds: मशरूम एक ऐसी सब्जी है जो कई घरों में काफी पसंद की जाती है। इसे बनाना काफी फायदेमंद है। मशरूम में कैलोरी और फेट बहुत कम होता है। इसमें फाइबर की मात्रा काफी ज्यादा होती है और इसके साथ इसमें पोटैशियम और सिलेनियम भी ज्यादा मात्रा में पाया जाता है इसलिए ये फ़ूड किसी भी डिश में यूज करने के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है।

Grow Mushrooms On Coffee Grounds

Grow Mushrooms On Coffee Grounds (Step By Step)

मशरूम को एक कॉफ़ी ग्राउंड में उगाना (Mushrooms in Coffee Ground at Homeएक काफी मजेदार काम है। ये एक ऐसा काम है जो आपके कॉफ़ी ग्राउंड को बर्बाद होने से बचाने में मदद करती है। कॉफ़ी ग्राउंड मशरूम के लिए एक अच्छा ग्रोइंग मीडियम होता है। क्योंकि ये पहले से ही स्टेरलाइज होता है। जिसका सीधा श्रेय कॉफ़ी ब्रूइंग प्रोसेस को जाता है और ये न्यूट्रियंट्स से भरा हुआ होता है।

कॉफी ग्राउंड ले आएँ

आपको बता दें कि आधा किलों मशरूम स्पॉन के लिए आपको लगभग 2.5 किलो फ्रेश कॉफ़ी ग्राउंड की जरुरत होगी। फ्रेश कॉफ़ी ग्राउंड को पाने के लिए एक कॉफी कैफे से इसकी मांग कर सकते हैं। फ़िल्टर पैच ग्रो बैग का इस्तेमाल करना यूज करने लायक सबसे सही चीज है जिसे आमतौर पर मशरूम स्पॉन के साथ खरीदा जा सकता है।

मशरूम के लिए एक कंटेनर की तलाश करें

Mushrooms in Coffee Ground at Home 1
Mushrooms in Coffee Ground at Home

एक एंटी बैक्टीरियल सोप से अपने हाथो को अच्छी तरह से धो लें फिर मशरूम स्पॉन को कॉफी ग्राउंड में मिक्स कर लें। उनके एक बराबर रूप से फैले रहने की पुष्टि करें। इस कॉफी ग्राउंड को एक प्लास्टिक बैग में कंटेनर रख दें और उसे टाइट सील कर दें।

मशरूम को सही माहौल में रखें

उसके बाद कंटेनर को एक गरम, डार्क लोकेशन में कहीं, 64 और 77°F के बीच वाली जगह नीचे रख दें। इसे यहां पर दो से चार हफ्ते के लिए या फिर जब तक कि पूरा व्हाइट होता है।

मशरूम को रिलोकेट करें

आपको बता दें कि जैसा ही उसका बैग पूरा सफ़ेद हो जाए उसे एक रौशनी वाले एरिया में रख लें और ऊपर एक 2″ by 2″ का छेद काट लें। उसके बाद कंटेनर को रोज दो बार स्प्रे करके उसे सूखने से बचाएं। मशरूम बहुत ज्यादा सूखे माहौल में नहीं बढ़ता है।

मशरूम की कटाई करें

मशरूम को जैसे ही 5 से 7 दिन हो जाने के बाद फिर छोटे छोटे मशरूम निकलना शुरू हो जाएंगे। उन्हें इसी तरह से गीला करते रहे और वो साइज में डबल होकर बढ़ते रहेंगे। जब मशरूम के कप थोड़ा ऊपर की तरफ बढ़ना शुरू हो जाएं तब समझ जाएं कि इसकी कटाई करने की बारी आ गई है।

Mushrooms उगाने के लिए इन चीजों की होगी आवश्यकता

  1. मशरूम स्पॉन
  2. घास
  3. बेकिंग पेन
  4. हीटिंग पैड
  5. पॉन्टिंग साइल
  6. स्प्रे बॉटल
  7. पानी
  8. टॉवल

Mushrooms in Coffee Ground at Home को सूखने न दें

15 से 20 दिनों के बाद, मशरूम सब्सट्रेट की सतह बदलना शुरू हो जाएगी और आपको हर तरफ सफेद धब्बे दिखाई देंगे। जब आप इसे देखते हैं तो बस सिलोफ़न परत को हटा दें और अपनी बाल्टी को अधिक रोशनी में रखें। आपके घर में एक छायादार रोशनी वाली खिड़की वाला कोना एकदम सही है। सतह को सूखने न दें, दिन में दो बार पानी का छिड़काव करें।

मशरूम उगाने की ऑल्टरनेटिव मेथड्स

जो लोग पहली बार मशरूम को उगा रहे हैं उनके लिए मशरूम को रेडीमेड किट से उगाना बहुत आसान होगा। इन किट में वैसे तो मशरूम वाली स्टरलाइज रहती है। आपको उस बैग को बस सही कंडीशन में रखना होगा। ऐसा करने पर आपको 10 दिनों में घर में उगाए मशरूम मिल जाएंगे। इन किट की कीमत आमतौर पर 1500 से 2000 रुपए के बीच होगी।

Mushrooms in Coffee Ground at Home 2
Mushrooms in Coffee Ground at Home

मशरूम शुरूआती दौर में उगाने के लिए उस बैग को खोलें और एक अच्छी रौशनी वाली लोकेशन में छाव वाली रौशनी में रख दें। इस किट को रूम टैम्प्रेचर पर रखा जा सकता है। लेकिन इस पौधों पर बार बार स्प्रे करते रहें। कुछ किट बैग को कवर करने के लिए और ह्यूमिडिटी को मेंटेन रखने के लिए प्लास्टिक बैग भी प्रोवाइड करती है।

Mushrooms in Coffee Ground का उपयोग

हर साल लाखों टन कॉफी ग्राउंड लैंडफिल में भेजे जाते हैं; ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप एक कप कॉफी बनाते हैं, तो कप में केवल थोड़ी मात्रा में कॉफी बायोमास समाप्त होता है। हम जानते हैं कि दुनिया को कॉफी बहुत पसंद है। हर दिन दुनिया भर में इसका 2.25 बिलियन कप से अधिक सेवन किया जाता है। और प्रत्येक कप में लगभग 11 ग्राम ताजा ग्राउंड कॉफी के साथ दुनिया भर में सालाना 9 मिलियन टन ग्राउंड कॉफी बनाई जाती है।

आमतौर पर बचे हुए कॉफी को लैंडफिल में स्थानांतरित कर दिया जाता है। जहां वे मीथेन उत्पन्न करते हैं कार्बन डाइऑक्साइड की तुलना में 25 गुना अधिक शक्तिशाली ग्रीनहाउस गैस और ग्लोबल वार्मिंग के प्रमुख कारणों में से एक है।

मोनोट्यूब फ्रूटिंग चैंबर क्या है?

आप बैग की जगह मोनोट्यूब का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। मोनोट्यूब कक्ष है जिसमें सीप मशरूम रखा जा सकता है। मशरूम फ्रूटिंग चैंबर एक संलग्न वातावरण है जो प्राकृतिक मशरूम की बढ़ती परिस्थितियों की नकल करता है। मोनोटब एक प्लास्टिक का टब होता है जिसमें छेद किए जाते हैं ताकि इसे मशरूम के फलने के लिए पर्यावरण के रूप में इस्तेमाल किया जा सके। माइसेलियम सब्सट्रेट को पचाते समय गर्मी पैदा करता है इसलिए मोनोट्यूब के अंदर एक थर्मल एयर करंट बनता है।

Leave a Comment