School Summer Vacation in India 2022 : गर्मियों में छुट्टियाँ ही छुट्टियाँ, जानें शिक्षा मंत्री का आदेश

School Summer Vacation: छत्तीसगढ़ राज्य के कक्षा एक से कक्षा 8वीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए शिक्षा विभाग द्वारा खुशखबरी जारी की गयी है की अब उन्हें गर्मी की भरी दोपहर में स्कूल जाने की जरूरत नहीं है और वे सभी घर पर बैठकर ही अपनी पढाई कर सकते हैं। छत्तीसगढ़ राज्य के शिक्षा विभाग ने कक्षा एक से 8वीं तक के छात्रों को बड़ी राहत दी है और निर्देश दिए हैं कि गर्मी के चलते और बीमारियों के चलते 15 अप्रैल के बाद छात्रों को स्कूल आना अनिवार्य नहीं होगा। अगर विद्यार्थी स्कूल जाना चाहते हैं तो स्कूल जा सकते हैं या फिर घर पर रहकर पढ़ाई कर सकते हैं या छुट्टी मना सकते हैं।

School Summer Vacation

इसके साथ ही सभी अध्यापक मौजूद रहेंगे उनकी कोई छुट्टी नहीं होगी। छत्तीसगढ़ में कुछ छात्र बहुत दूर से स्कूल आते हैं, और गर्मियों के सीजन में तेज धूप और अधिक Temperature होने के कारण अगर विद्यार्थी स्कूल नहीं आते हैं तो कोई समस्या नहीं है। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं और इसमें स्पष्ट कहा गया है कि छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा वर्तमान शैक्षणिक को 30 अप्रैल 2022 तक बढ़ाया गया है। आदेश के अनुसार छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा Current academic session में 31 मार्च 2022 को 30 अप्रैल 2022 तक बढ़ाया गया है।

भारत में स्कूल की छुट्टियाँ शुरू

शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए निर्देशानुसार सत्र 1 मई से 15 दिन के अतिरिक्त शैक्षणिक कार्य के लिए शुरू किया जायेगा। इसके अलावा सभी राज्यों में संचालित सभी शासकीय स्कूलों में कक्षा एक से 8वीं तक के विद्यार्थियों 15 अप्रैल के बाद स्कूल जाना अनिवार्य नहीं होगा। साथ ही अगर विद्यार्थी स्कूल जाना चाहते हैं तो भी कोई problem नहीं है, और अगर छात्र घर पर रहकर छुट्टी मनाना चाहते हैं तो उन्हें स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं किया जायेगा। बहुत से छात्र बहुत दूर से स्कूल आते हैं, जिससे उन्हें गर्मी के मौसम में आने और जाने में दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है और साथ ही इस समय कोरोना महामारी का प्रकोप भी चल रहा है, जिसे देखते हुए शिक्षा विभाग ने यह फैसला लिया है।

जिससे छात्रों की तबीयत पर बुरा प्रभाव ना पड़े। इतनी तेज धूप और गर्मी से छात्रों की तबीयत ज्यादा खराब हो सकती है। इसलिए इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह जरुरी निर्देश जारी किये हैं। स्कूल संचालन के साथ ही छात्रों तथा शिक्षकों की उपस्थिति के संबंध में सभी संभागीय संयुक्त संचालक शिक्षा और जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इसके अलावा केवल छात्रों का आना अनिवार्य नहीं रहेगा और शिक्षकों की छुट्टी नहीं रहेगी। साथ ही नजदीक के जो छात्र-छात्रा स्कूल आना चाहते हैं, वे स्कूल आ सकते हैं और पढ़ाई कर सकते हैं और जो स्कूल नहीं आना चाहते तो भी कोई दिक्कत नहीं है। स्कूल में सभी शिक्षक मौजूद रहेंगे उन्हें छुट्टी नहीं मिलेगी ताकि अगर नजदीक के कोई छात्र स्कूल आते हैं तो वह स्कूल में अपनी पढ़ाई कर सकते हैं।

Leave a Comment

close button