(SSA) Sukanya Samriddhi Account: इस सरकारी स्कीम से बिटिया को मिलेंगे Tax Free 66 लाख रुपये

(SSA) Sukanya Samriddhi Account: हमारे भारतीय समाज में बेटों से ज्यादा बेटियों की देखभाल करने की प्रथा सदियों से चली आ रही है… हालांकि यह सोच पिछले कुछ दशकों में कुछ हद तक बदली है और बेटियां हर क्षेत्र में माता-पिता और परिवार का नाम भी हैं। बावजूद इसके अधिकतर परिवारों में बेटियों की पढ़ाई से लेकर उनकी शादी तक की चिंता करने वाले माता-पिता के लिए केंद्र सरकार की एक योजना (Central Government Scheme) है, कुछ की मदद से एक साल तक लगातार बचत कर एक बार में आप 21 साल के हो गए हैं, आप अपनी बेटी को लगभग 66 लाख रुपये का टैक्स फ्री व्हाइट मनी (tax free white money) दे सकते हैं, जो उसके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है। Samriddhi Account – SSA, जिसके तहत प्रत्येक भारतीय अपनी बेटी के जन्म के साथ ही डाकघर या बैंक में खाता खोल सकता है, जिसमें लगातार 15 वर्षों तक निवेश करने के बाद 21 वर्ष पूरे होने पर 65 लाख 93 हजार रुपये का भुगतान किया जाता है।

Sukanya Samriddhi Account

सुकन्या समृद्धि खाते (Sukanya Samriddhi Account) के तहत वही व्यक्ति खाता खुलवा सकता है, जो 10 वर्ष से कम उम्र की बेटी का पिता या अभिभावक हो.. इस खाते में जमा की जा सकने वाली अधिकतम राशि 1,50,000 रुपये है, लेकिन इस खाते में हर साल जो न्यूनतम राशि जमा की जा सकती है वह 250 रुपये है। यह एक उच्च ब्याज अर्जित करने वाली सरकारी योजना (Sarkari Yojana)है, जिसमें प्रत्येक खाताधारक को भुगतान किया जाता है। प्रति वर्ष 7.6 प्रतिशत की दर से ब्याज, जबकि PPF में प्राप्त ब्याज का भुगतान 7.1 प्रतिशत की दर से किया जाता है।

Samriddhi Account – SSA

तो इस योजना में अगर बेटी के पैदा होते ही खाता खुलवा दिया जाता है तो आपको इसमें हर साल तब तक निवेश करना होगा जब तक कि लड़की 15 साल की नहीं हो जाती, जो कि अधिकतम 1,50,000 रुपये हो सकती है… इस खाते में अधिकतम ब्याज भी।

कमाने का सबसे अच्छा मौका तभी है जब आप हर वित्तीय वर्ष में 5 अप्रैल से पहले यह निवेश करते हैं… इस तरह आप 15 साल में कुल 22,50,000 रुपये का निवेश करेंगे, और 21 साल तक जब आपकी बेटी को मैच्योरिटी राशि (maturity amount) मिलेगी, यह 65,93,071 रुपये होगा बशर्ते मौजूदा ब्याज दर में कोई बदलाव न हो… इस कुल राशि में ब्याज हिस्सेदारी 43,43,071 रुपये होगी और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बेटी को इस पूरे पर कोई टैक्स नहीं देना होगा। राशि (रु. 65,93,071)… वैसे, ध्यान रखें, सरकार द्वारा हर तिमाही में ब्याज दर को संशोधित किया जाता है, इसलिए ब्याज दर में बदलाव होने पर खाता परिपक्व होता है। यानी मैच्योरिटी (maturity) पर बेटी को मिलने वाली राशि में कुछ अंतर हो सकता है।

आइए आपको समझाते हैं कि आपको अपनी बेटी के नाम से खोले गए खाते में कब राशि जमा करनी चाहिए, ताकि आपकी बेटी को अधिकतम राशि मिल सके।

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator

यदि कोई सुकन्या समृद्धि खाता शाखा में खोलता है, और उसमें 1,50,000 रुपये की प्रारंभिक राशि जमा करता है, तो उसे एक वर्ष पूरा होने पर 7.6 प्रतिशत की दर से 11,400 रुपये का ब्याज मिलेगा, जो कि है अगले साल अप्रैल की शुरुआत में जो अगले साल अप्रैल की शुरुआत में कुल मूल निवेश को 1,61,400 रुपये बना देगा जिसमें अगले साल के निवेश में 1,50,000 रुपये जमा करने के बाद, दूसरे वर्ष में आपको मिलने वाली राशि पर ब्याज 3,11,400 रुपये होगा, और इस पर अर्जित वार्षिक ब्याज होगा 23,666 रुपए हो…

इसी तरह अगर आप बेटी के Sukanya Samriddhi account में 15 साल तक 1,50,000 रुपये जमा करते रहेंगे तो कुल मिलाकर 22,50,000 रुपये जमा करेंगे और फिर बेटी के 21 साल होने का इंतजार करेंगे, जब यह खाता मेच्योर जाएगा. अगले छह साल तक आप इस खाते में कुछ भी निवेश नहीं करेंगे, और हर साल बेटी के खाते में ब्याज लगातार जुड़ता रहेगा और मैच्योरिटी पर बेटी को कुल 65,93,071 रुपये मिलेंगे, जो पूरी तरह से सफेद धन होगा, और साथ ही पूरी तरह से कर मुक्त होगा

वैसे एक बात और भी जानने लायक है… आपकी बेटी जब 18 साल की हो जाएगी तो उस समय खाता पूरी तरह से उसके नाम होगा और वह इसे संचालित कर पाएगी। इसे लेकिन 10 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पहले खोला जा सकता है, इसलिए उस स्थिति में खाते की परिपक्वता 21 वर्ष की होने पर होगी… खाता पूरी तरह उसके नाम है। यह तभी होगा जब वह वयस्क हो जाएगी, यानी 18 वर्ष की हो जाएगी

HOMEPAGEPM KISAN YOJANAA

Leave a Comment

close button